एएनएम के लिए पैरवी करने वाले मंत्री बर्खास्त हों : मोदी

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो Updated: 18 मार्च, 2017 8:17 PM

+ -

भजपा विधानमंडल दल के नेता सुशील कुमार मोदी ने एएनएम बहाली की जांच की मांग की। साथ ही पैरवी करने वाले मंत्रियों की बर्खस्तगी की भी मांग की। उन्होंने कहा कि इस मामले की भी जांच सीबीआई से होनी चाहिए। अभी केवल पेपर लीक कांड की जांच एसआईटी कर रही है।

श्री मोदी ने आरोप लगाया कि स्वास्थ्य मंत्री तजेस्वी प्रसाद यादव के ओएसडी शंकर प्रसाद ने भी तीन आवेदकों के लिए पैरवी की है। पैरवी करने वालों की पूरी सूची सार्वजनिक होनी चाहिए। परिषद स्थित अपने कार्यालय कक्ष में प्रेस से बात करते हुए श्री मोदी ने कहा कि एनएनएम नियुक्ति में पैरवी करने वाले तेजप्रताप यादव, आलोक मेहता और कृष्णनंदन वर्मा को सरकार अविलंब बर्खास्त करे। इस मामले में पैरवी करने वालों के नाम परत-दर-परत उजागर हो रहे हैं। मंत्री अगर पैरवी करता है तो वह आरजू न होकर आदेश होता है। दो मंत्रियों ने स्वीकर किया है कि उन्होंने पैरवी की है। जहां तक भाजपा के सुरेश शर्मा की बात है तो उन्होंने कहा है कि मैंने कोई पैरवी नहीं की,जो भी हो, उनकी भी जांच होनी चाहिए। पूरा कॉल डिटेल सार्वजनिक होगा तो कई मंत्री, विधायक और अधिकारियों के नाम सामने आएंगे।

इसके पहले इस मामले में पैरवी करने वाले मंत्रियों को बर्खास्त करने की मांग के साथ भाजपा सदस्यों ने शनिवार को विधान परिषद के वेल में नारेबाजी की। इस कारण सभापति अवधेश नारायण सिंह ने सदन को तय समय से पहले ही स्थगित कर दिया। पार्टी के सदस्य विनोद नारायण झा ने इस मामले पर विशेष बहस के लिए कार्यस्थगन भी लाया था, जिसे सभापति ने अस्वीकृत कर दिया।

 

जरूर पढ़ें

From around the web