नवादा के मॉल में लगी आग, ढाई करोड़ का नुकसान

नवादा। हिन्दुस्तान प्रतिनिधि Updated: 19 मार्च, 2017 9:05 PM

+ -

नवादा शहर के न्यू एम.के. सेल मॉल में आग लगने से करीब ढाई करोड़ रुपये का सामान खाक हो गया। घटना शनिवार की देर रात दो बजे हुई। शहर के प्रजातंत्र चौक के समीप स्थित नवनिर्मित चार मंजिला कम्पलेक्स में हुई। मॉल कम्पलेक्स के पहले व दूसरे माले पर है। शॉट सर्किट से आग लगने की आशंका जतायी जा रही है।

घटना की सूचना रात ढाई बजे पुलिस लाइन की पेट्रोलिंग टीम ने टाउन इंस्पेक्टर को दी। टाउन इंस्पेक्टर अंजनी कुमार की सूचना पौने तीन बजे नवादा फायर ब्रिगेड मुख्यालय की तीन गाड़ियां घटनास्थल पर पहुंच गयी। आग की विभीषिका को देखते हुए रजौली व नालंदा जिले के राजगीर तथा हिलसा से तीन गाड़ियां बुलायी गयीं। दुकान का शटर तोड़ने के लिए जेसीबी बुलायी गयी। शटर टूटने के बाद फायर ब्रिगेड ने मॉल के भीतर जाकर आग बुझाया। आग पर पूरी तरह काबू पाने में सभी छह गाड़ियों को करीब छह घंटे लग गये। रविवार की सुबह पौने दस बजे आग बुझाकर गाड़ियां वापस लौटी। इस बीच मॉल में रखा सारा सामान खाक हो गया।

एम एम कम्पलेक्स व मॉल का उद्घाटन दुर्गापूजा के एक दिन पूर्व 3 अक्टूबर को हुआ था। यह इमारत शहर के प्रमुख समाजसेवी व सिविल कोर्ट के कर्मी जकी हैदर की बहन की मिल्कियत है। वह विदेश में रहती हैं। जकी बतौर केयर टेकर इसकी देखभाल करते हैं। न्यू एमके सेल मॉल अकबरपुर थाने के रमीज हासमी की है।

जकी ने बताया कि प्रथम दृष्टया अगलगी में करीब ढाई करोड़ के नुकसान की आशंका है। वास्तविक नुकसान का आकलन किया जा रहा है। अगलगी में मॉल के पहले व दूसरे माले में रखे रेडिमेड जेन्ट्स, लेडिज व किड्स कपड़ों के अलावा फर्नीचर व कई अन्य कीमती सामान राख हो गये। बेसमेंट व ऊपरी माले की दुकानों को नुकसान नहीं पहुंच सका। मॉल के उपरी मंजिल पर कपड़े की गोदाम भी थी।

इमारत के भीतर प्रवेश नहीं कर पाने के कारण आग बुझाने में लगे कर्मियों को काफी परेशानी हुई। शटर नहीं टूटने के कारण आग पर काबू पाने में काफी विलम्ब हुआ है। फायर ब्रिगेड का पानी मॉल के भीतर नहीं पहुंच पा रहा था। कपड़ों में आग पकड़ने के कारण आग तेजी से फैल रहा था। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक पानी का फोर्स भी कम था, जिससे पानी उपर नहीं पहुंच रहा था। जेसीबी से शटर तोड़े जाने के बाद आग पर काबू पाया गया।

आग पर काबू पाने में फायर ब्रिगेड के चार जवान घायल हो गये। सीढ़ी पर चढ़कर आग बुझाने व शटर में होल कर पाइप का पानी भीतर पहुंचाने में जवान चोटिल हुए। इनका सदर अस्पताल में इलाज कराया गया। इस अभियान में नवादा फायर ब्रिगेड के प्रधान अग्निक (हवलदार) पिंटू कुमार के नेतृत्व में 12 जवानों ने भाग लिया। वहीं राजगीर से आये कई दमकल के जवानों ने भी महत्वपूर्ण भूिमकािनभायी।

घटनास्थल के समीप देर तक अफरातफरी मची रही। उस वक्त लोग गहरी नींद में सोये थे। शोर व आग की खबर सुनते ही लोगों की नींद उड़ गयी। आसपास के भवनों में सोये लोग जिस हालत में थे, घरों से बाहर निकल गये। कोई रसोई सिलिंडर लेकर घर से बाहर निकल रहा था, तो कोई बच्चों को लेकर। मॉल के समीप के दुकानदारों ने झटपट अपनी दुकान के समानों को समेटना शुरू कर दिया। पुलिस ने लोगों को शांत कराया। फायर ब्रिगेड द्वारा पानी की बौछार शुरू करने के बाद लोगों ने राहत की सांस ली। लोग आग की विभीषिका को देखते हुए इसके आसपास फैलने के डर से डरे हुए थे।

जरूर पढ़ें

From around the web