युवाओं, दलितों के जरिये 2019 चुनाव साधने की भाजपा की पहल

युवाओं, दलितों के जरिये 2019 चुनाव साधने की भाजपा की पहल

1/3युवाओं, दलितों के जरिये 2019 चुनाव साधने की भाजपा की पहल

नई दिल्ली, एजेंसी Updated: 19 मार्च, 2017 12:52 PM

+ -

 

देश की 60 प्रतिशत आबादी के 35 वर्ष से कम होने को ध्यान में रखते हुए भाजपा ने 2019 के लोकसभा चुनाव के अपने अभियान के केंद्र में युवाओं को रखा है और दलितों समेत समाज के कमजोर वर्ग को जोड़कर एक बार फिर 2014 के चुनावों की सफलता को दोहराने पर जोर दिया है। भाजपा ने युवाओं की जोड़ने की पहल के तहत खासतौर पर 12वीं पास करने वाले युवाओं को केंद्र में रखा है और पार्टी नेताओं, सांसदों, विधायकों एवं कार्यकतार्ओं से इन युवाओं को सोशल मीडिया, डिजिटल एवं जनसम्पर्क के आधुनिक माध्यमों से सम्पर्क करने की सलाह दी। 

इस बारे में पूछे जाने पर भाजपा के वरिष्ठ प्रवक्ता सैयद शाहनवाज हुसैन ने भाषा से कहा कि हमारे प्रधानमंत्री पहले ही कई मौके पर युवाओं को जोड़ने, उन्हें सशक्त बनाने तथा नये हिन्दुस्तान की स्थापना में इनके महत्व एवं योगदान को रेखांकित कर चुके हैं। भाजपा के लिए युवा केवल चुनावी मुद्दा नहीं बल्कि नए हिन्दुस्तान की नींव हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पार्टी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं से कहा कि युवाओं को केंद्र सरकार के सार्वजनिक कल्याण वाले कार्यों और सुशासन का राजदूत बनाया जाना चाहिए। भाजपा अपने नेताओं और कार्यकतार्ओं से युवाओं को आकर्षित करने के लिए मोबाइल फोन के इस्तेमाल पर जोर दे रही है।

पार्टी का मानना है कि युवा वर्ग आज सूचनाओं के लिए अखबारों और टीवी चैनलों से ज्यादा मोबाइल फोन पर निर्भर करता है और ऐसे डिजिटल माध्यमों से पार्टी की विचारधारा, योजनाओं, कार्यक्रमों को युवाओं तक पहुंचाने और जोड़ने में काफी मदद मिलेगी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पार्टी नेताओं से बारहवीं कक्षा के छात्रों से संपर्क साधने को कहा है। 

मिशन 2019 के लिए तैयार है बीजेपी, लेकिन चुनौतियां अपार

अगली स्लाइड में पढ़ें दलितों को लुभाने के लिए भाजपा क्या कर रहा है

जरूर पढ़ें

From around the web