पॉलीटेक्निक कॉलेज की जमीन का व्यवसायिक इस्तेमाल का विरोध

बल्लभगढ़ Updated: 18 मार्च, 2017 10:08 PM

+ -

गांव नीमका स्थित पॉलीटेक्निक कॉलेज के लिए ली गई ग्राम पंचायत की जमीन को प्रदेश सरकार द्वारा केंद्र सरकार को व्यवसायिक इस्तेमाल के लिए दिए जाने के विरोध में आक्रोशित ग्रामीणों ने शनिवार को एक पंचायत का आयोजन किया। जिसमें गांव नीमका के मौजिज लोगों ने एक स्वर में भाजपा सरकार के इस निर्णय की कड़ी निंदा करते हुए इसे ग्रामीणों के साथ विश्वासघात करार दिया। कांग्रेसी विधायक ललित नागर ने मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों की मांग को जायज करार दिया।

सनद रहे कि हरियाणा विधानसभा के बजट सत्र में विधायक ललित नागर ने प्रदेश के शिक्षामंत्री रामबिलास शर्मा को कॉलेज की समूची वास्तुस्थिति से अवगत करवाया था। शिक्षामंत्री ने विधायक ललित नागर को जल्द कॉलेज शुरू करवाने का आश्वासन भी दिया था।  गौरतलब है कि 5 वर्ष पूर्व कांगे्रस शासनकाल में गांव नीमका पंचायत ने अपनी करीब साढे 18 एकड़ जमीन शिक्षा विभाग को एक रुपये प्रति एकड़ की दर से पॉलीटेक्निक कॉलेज बनाने के लिए दी थी। ताकि आसपास के छात्र-छात्राओं को उच्च शिक्षा के लिए दूर दराज नहंी जाना पड़ेगा। इस कॉलेज का नाम राजा जैत सिंह नागर पॉलीटेक्निक कॉलेज के नाम पर रखा गया। अब जमीन पर बिल्डिंग बनकर तैयार हो गई और कोर्स चालू होने का समय आ गया है तो प्रदेश की भाजपा सरकार ने इस बिल्डिंग को राष्ट्रीय लघु उद्योग निगम लिमिटेड को 33 वर्षाे के लिए 1 रुपये प्रति एकड़ की दर पर लीज पर दे दी। इसी को लेकर गांव नीमका के लोग सरकार के खिलाफ लामबंद हो गए है। 

विधायक ललित नागर ने कहा कि गांव नीमका स्थित कॉलेज का भवन बनकर तैयार हो गया है तो प्रदेश की भाजपा सरकार इसे दूसरे उपयोग में प्रयोग करना चाहती है, जिसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार का यह कदम पूरी तरह से गलत है, जिसका वह जमकर विरोध करते हैं और अगर जल्द ही इस पॉलीटेक्निक में छात्र-छात्राओं की कक्षाएं शुरू नहीं की गई तो ग्रामीण इस बिल्डिंग पर ताला जड़ देंगे और अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल करने से भी गुरेज नहीं करेंगे। पंचायत में केसराम सरपंच, जगबीर सरपंच, मास्टर भरत सिंह, खड़क सिंह, धर्मपाल ठेकेदार, हरिया सूबेदार, प्रकाश मेम्बर, अजीत नागर, राजबीर नागर, चरण सिंह नागर, जयकरण, रूपचंद, भीम शर्मा, रिछपाल, रमेश मेम्बर, रवि नागर , धर्मबीर, जगत नागर, बिजेंद्र, रामप्रसाद, अशोक गोस्वामी, प्रवीन, सुनील सहित अनेक ग्रामीण मौजूद थे। 

जरूर पढ़ें

From around the web