दिल्ली का पहला बटरफ्लाई पार्क बनेगा तुगलकाबाद में

नई दिल्ली, पंकज रोहिला Updated: 21 मार्च, 2017 9:23 AM

+ -

दिल्ली में तितलियों के लिए पार्क बनाया जाएगा। तुगलकाबाद में छह एकड़ में बनने वाला ‘बटरफ्लाई पार्क’ जून तक बनकर तैयार हो जाएगा। यहां देश-विदेशों से तितलियों की विभिन्न प्रजातियां लाई जाएंगी। सूत्रों ने बताया कि पार्क को बनाने के लिए फंड की कमी आ रही थी। मगर अब धनराशि मिलने के बाद पर्यावरण विभाग ने योजना पर काम शुरू कर दिया है। 

अंतरराष्ट्रीय फॉरेस्ट डे पर इसकी शुरुआत की जा रही है और पर्यावरण दिवस तक इसे आम जनता के लिए खोलने की तैयारी है। दिल्ली में तितलियों की करीब 105 प्रजातियां पाएं जाने का दावा किया जाता है। ये दिल्ली में कुछ चुनिंद जगहों पर ही तितलियां देखने को मिलती है। इनमें लोधी गार्डन, संजय वन, जेएनयू व ओखला पक्षी विहार है।

पार्क कहां होगा: तुगलकाबाद शूटिंग रेंज में इस पार्क के लिए जगह उपलब्ध है। इस 6 एकड़ एरिया में पर्यावरण विभाग पार्क का 15-16 ब्लॉक में विकसित कर रहा है। इसका डिजाइन पूरा कर लिया गया है। बाढ़ एंव नियंत्रण विभाग की मदद से इस पर काम किया गया है। 

प्रदूषण से कम हो रहीं तितलियां : प्रदूषण की वजह से अब कुछ ही जगहों पर तितलियां नजर आती हैं। एक अनुमान के मुताबिक दुनिया में करीब 20, 000 तितलियों की प्रजातियां हैं। इनमें से 1501 किस्म भारत में पाई जाती हैं।

लैपर्ड, प्लेन लायन दिखेंगी
पार्क में शुरुआत में लैपर्ड, टाइगर और प्लेन लायन जैसी तितलियों की प्रजातियां रखी जाएंगी। ये प्रजातियां दिल्ली के वातावरण के अनुकूल है। तुगलकाबाद रेंज होने के कारण अभी भी इस क्षेत्र में बड़ी संख्या में पाई जाती है। इसलिए यह केंद्र विकसित किया जा रहा है। इस पूरे क्षेत्र को सरकार विकसित करेगी और यहां पर वॉटर बॉडी को भी विकसित किया जाएगा।

चंडीगढ़ में है ऐसा पार्क
अभी इसी तर्ज पर चंडीगढ़ में एक पार्क तैयार किया गया है। यहां बड़ी संख्या में तितलियों की नस्ल है। इसके विकसित होने की सबसे बड़ी वजह है कि यहां नजदीक में ही फलमंडी है और इनके लिए पर्याप्त खानपान सामग्री उपलब्ध है। इसके अतिरिक्त एक तालाब भी है। ऐसा ही प्रारूप दिल्ली में तैयार किया गया जा रहा है। ऐसा ही एक पार्क कर्नाटक में भी है।

जरूर पढ़ें

From around the web