आरक्षित सीटों पर दाखिले को निजी स्कूलों की फिर नाफरमानी

फरीदाबाद। कार्यालय संवाददाता Updated: 20 मार्च, 2017 10:48 PM

+ -

आरक्षित सीटों पर दाखिले का पेंच निजी स्कूल और शिक्षा विभाग के बीच फिर फंसता दिख रहा है। दरअसल, कोटे के दाखिले को रिक्त सीटों पर मांगी गई जानकारी अंतिम तिथि खत्म होने तक नाममात्र डेढ़ फीसदी स्कूलों ने ही भेजी है। वहीं दूसरी ओर सोमवार से दाखिला प्रक्रिया के तहत आवेदनों का दौर शुरू हो चुका है। ऐसे में शिक्षा विभाग मनमानी में जुटे निजी स्कूलों की रिपोर्ट तैयार करने में जुट गया है। 

गौरतलब है कि शिक्षा के नियम 134-ए के तहत दाखिला को प्रक्रिया जारी है। विभाग ने इससे पहले सभी निजी स्कूलों को 10 मार्च तक नोटिस बोर्ड पर खाली सीटों की सूचना जारी करने के आदेश दिए थे।  वहीं जानकारी विभाग तक पहुंचाने के लिए 20 मार्च तक का समय दिया गया था। लेकिन अंतिम तिथि समाप्त होने तक स्कूलों ने आदेशों का पालन नहीं किया है। इस बाबत रिपोर्ट तैयार कर उच्च अधिकारियों को भेजी जाएगी। 

जिले से दस स्कूलों ने ही भेजी है सूचना
जिला शिक्षा कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक सूचना भेजने की अंतिम तिथि 20 मार्च थी। अभी तक मात्र दस स्कूलों ने ही इस बाबत जानकारी दी है। आदेशों की अवहेलना करने वाले स्कूलों की सूची तैयार की जा रही है। रिपोर्ट बनाकर शिक्षा निदेशालय भेजी जाएगी। इसके बाद नियमों के तहत कार्रवाई की होगी। 

इस बार ऑनलाइन मांगी गई थी जानकारी
विद्यालय शिक्षा निदेशालय ने इस बार प्रदेशभर के निजी स्कूलों से शिक्षा के नियम-134ए के तहत खाली सीटों का ब्योरा 20 मार्च तक ऑनलाइन मांगा था। इसके तहत स्कूलों को पोर्टल पर दिए गए लिंक के जरिए हर कक्षा में कुल सीटों की संख्या, दाखिल छात्रों की संख्या और रिक्त सीटों की संख्या की जानकारी देनी थी। 

सूचना नहीं दी तो जा सकती है मान्यता
निदेशालय की ओर से आदेशों का पालन करने के सख्त निर्देश दिए गए थे। नियमों के मुताबिक दी गई तिथि तक जानकारी नहीं देने वाले स्कूलों के खिलाफ हरियाणा स्कूल एजुकेशन एक्ट-1995 और नियम 2003 के तहत कार्रवाई की जाएगी। इसके मुताबिक स्कूल की मान्यता रद्द हो सकती है या फिर अनापत्ति प्रमाण पत्र वापस लिया जा सकता है। 

जानकारी नहीं देने पर रिक्त मानी जाएंगी सीटें
डॉ. मनोज कौशिक, जिला शिक्षा अधिकारी: कोटे के दाखिले पर निजी स्कूलों की मनमानी नहीं चलेगी। जिन निजी स्कूलों ने खाली सीटों की जानकारी नहीं दी है वहां सीटें रिक्त मानतें हुए आवेदकों को स्कूलों का आवंटन किया जाएगा। इसके बाद स्कूलों को दाकिला देना ही पड़ेगा। मनमानी करने वाले निजी स्कूलों पर शिक्षा विभाग सख्ती से निपटेगा। 

दाखिले को जारी सारणी
20 मार्च - आवेदन प्रक्रिया शुरू
10 अप्रैल - आवेदन प्रक्रिया समाप्त
12 अप्रैल - योग्य आवेदकों की सूची जारी
16 अप्रैल - लिखित परीक्षा का आयोजन
18 अप्रैल - परीक्षा परिणाम जारी
19 अप्रैल - पहला ड्रॉ
20-25 अप्रैल - पहले ड्रॉ के तहत दाखिले
1 मई - दूसरा ड्रॉ
2 से 5 मई - दूसरे ड्रॉ के तहत दाखिले

जरूर पढ़ें

From around the web