जहानाबाद जेल ब्रेक का आरोपित माओवादी गिरफ्तार

पटना। वरीय संवाददाता Updated: 21 मार्च, 2017 8:05 AM

+ -

जहानाबाद जेल ब्रेक कांड का आरोपित माओवादी बाल्मीकि पासवान अपने दो साथियों के साथ पुलिस के हत्थे चढ़ गया। सोमवार को तीनों को रानी तालाब थाने के कनपा पुल के पास से पकड़ा गया। इनके पास से दोनाली बंदूक, तीन कारतूस, तीन मोबाइल व एक बाइक बरामद की गई है।

बाल्मीकि के साथ शंकर पासवान (महुआर, बिहटा) व अखिलेश शर्मा (रामू बिगहा, बिहटा) को भी गिरफ्तार किया गया है। बाल्मीकि बिक्रम थाने के असपुरा का रहने वाला है। एसएसपी ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली कि एक ईंट भट्ठा मालिक से लेवी (रंगदारी) वसूलने के लिए कुछ माओवादी आने वाले हैं। सूचना के बाद उन्हें दबोचने के लिए पुलिस ने जाल बिछाया। इसी क्रम में पुलिस ने झारखंड नंबर की बाइक से तीन लोगों को आते देखा। पुलिस वालों ने इन्हें रोकना चाहा तो भागने लगे। पुलिस ने खदेड़ कर कनपा पुल के पास से तीनों को पकड़ लिया।

लेवी नहीं देने पर कर देते हैं हत्या

दबोचे गए माओवादी इलाके में लंबे समय से लेवी वसूल रहे थे। ठेकेदारों, ईंट-भट्ठा मालिक, सड़क निर्माण में लगी कंपनियों से भी ये लाखों रुपए वसूलते हैं। जो लेवी नहीं देता है, उनकी हत्या कर देते हैं। वाहनों व अन्य उपकरणों में आग लगा देते हैं। बाल्मीकि हत्या के आरोप में अरवल से जेल भी जा चुका है। 26 नवंबर, 2005 को हुए जहानाबाद जेल ब्रेक के दौरान बाल्मीकि फरार हो गया था। इसी साल शराब बेचने के आरोप उसे बिक्रम थाने से जेल भेजा गया था। दबोचे गए शंकर पासवान के पिता उमेश पासवान भी हत्या के आरोप हैं। राजीव नगर थाने में उसके खिलाफ वर्ष 2011 में हत्या का मामला दर्ज किया गया था। फिलहाल उमेश जेल में है।

जरूर पढ़ें

From around the web