अवैध बूचड़ खानों को बंद करने जा रही है योगी सरकार

लखनऊ, प्रमुख संवाददाता Updated: 21 मार्च, 2017 9:36 AM

+ -

योगी आदित्य नाथ की सरकार अवैध बूचड़ खानों को बंद करने जा रही है। सरकार की पहली कैबिनेट इस पर फैसला किए जाने के आसार हैं। भाजपा के लोक कल्याण संकल्प पत्र (चुनाव घोषणा पत्र) में सरकार बनते ही सभी अवैध कत्लखाने बंद करने और यांत्रिक कत्लखानों पर प्रतिबंध लगाने का वादा किया था। भाजपा की सरकार अब इसी वादे को निभाने जा रही है। सरकार ने सभी जिलाधिकारियों से उनके जिले में चल रहे अवैध बूचड़खानों पर रिपोर्ट तलब की है।

भाजपा के नेता खासतौर से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने चुनाव प्रचार में लगातार बूचड़ खानों को बंद करने का मुद्दा उठाते रहे। वे बूचड़खानों की वजह से पशुधन की हानि पर अपनी चिंता जाहिर करते रहे। उस समय अपनी चुनावी सभाओं में योगी आदित्य नाथ ने कहा था कि यूपी के पश्चिम जिलों में अवैध कत्ल खाने और लोगों का पलायन ये दो बड़े मुद्दे हैं। यहां लोगों की भैस चोरी होकर सीधे कत्ल खाने पहुंच जाती है। पश्चिम जिलों में बूचड़ खाने माफियाओं पर हमला बोलने की नीयत से भाजपा नेताओं ने पश्चिम जिलों में अपने चुनाव प्रचार में बूचड़ खाने का मुद्दा जमकर उठाया था। घोषणा पत्र में भी प्रदेश में गोवंश की हत्या पर पूर्ण प्रतिबन्ध लगाने का वादा किया गया है। साथ ही यह भी वादा किया था कि गरीबी रेखा के नीचे हर परिवार को एक दुधारू गाय मुफ्त दी जाएगी।

जरूर पढ़ें

From around the web